JNU के फैसले के खिलाफ आमरण अनशन की तैयारी, परीक्षाओं के समय में आंदोलन की परीक्षा | Jansatta

एक तरफ आंदोलन दूसरे तरफ करियर! सूत्रों के मुताबिक प्रशासन की परीक्षाएं से ठीक पहले कार्रवाई की घोषणा छात्रों की सहभागिता को रोकने की रणनीति है। उनका मानना था कि दंडात्मक कार्रवाई पर आंदोलन नहीं पनपेगा। लेकिन प्रशासन के कदम का जेएनयूएसयू और आइसा ने मात देने का फैसला किया है। जेएनयूएसयू ने दंडित करने के जेएनयू के फैसले के खिलाफ आमरण अनशन की तैयारी है। इसकी घोषणा किसी क्षण की जा सकती है।
कन्हैया मामले पर कार्रवाई विश्वविद्यालय प्रशासन के लिए गले की हड्डी बन गई है। मामला राजनीतिक ही नहीं देश की संवेदना से जुड़ चुका है और सरकार की सीधी नजर इस मामले पर है। लिहाजा जेएनयू प्रशासन इस मामले में फूंक-फूंक कर कदम रख रहा था।

Source: JNU के फैसले के खिलाफ आमरण अनशन की तैयारी, परीक्षाओं के समय में आंदोलन की परीक्षा | Jansatta

Comments are closed.